श्री दुर्गा सप्तश्लोकी पाठ (हिन्दी भावार्थ सहित) : 7 श्लोकों में पाएं सम्पूर्ण दुर्गा सप्तशती पाठ का लाभ

श्रीदुर्गा सप्तशती का पाठ माता को अति प्रिय है, परंतु सप्तशती में सात सौ श्लोक है जो तेरह अध्यायों में आते है। माँ के भक्तों के मन में इच्छा रहती है … Read More “श्री दुर्गा सप्तश्लोकी पाठ (हिन्दी भावार्थ सहित) : 7 श्लोकों में पाएं सम्पूर्ण दुर्गा सप्तशती पाठ का लाभ”

सम्पूर्ण अर्गला स्तोत्र (Argala Stotra) : हिंदी अनुवादित

दुर्गा सप्तशती पाठ में “अर्गला स्तोत्र” का पाठ दुर्गा कवच के बाद और कीलक स्तोत्र के पहले किया जाता है। देवी कवच के माध्यम से पहले चारों ओर सुरक्षा का घेरा बनाया जाता है … Read More “सम्पूर्ण अर्गला स्तोत्र (Argala Stotra) : हिंदी अनुवादित”

“श्री दुर्गा देवी कवच” पाठ : सरल हिन्दी अनुवाद सहित

दुर्गा कवच या देवी कवच (Devi Kavach) का पाठ “दुर्गा सप्तशती” के पाठ करने से पहले किया जाता है। इस कवच का पाठ करने से देवी भगवती अपने भक्तों पर … Read More ““श्री दुर्गा देवी कवच” पाठ : सरल हिन्दी अनुवाद सहित”

महिषासुर मर्दिनी स्तोत्र (Mahishasur Mardani Stotra)

महिषासुर मर्दिनी स्तोत्र की रचना आदि गुरु श्री शंकराचार्य जी ने की है जिसमे उन्होंने भगवती देवी के दुर्गा रूप की बड़ी ही सुंदर स्तुति की है। मां दुर्गा का … Read More “महिषासुर मर्दिनी स्तोत्र (Mahishasur Mardani Stotra)”

You cannot copy content of this page